Bachhon Ki Zid Asaani Se Khatam Karne Ki Dua In Islam

Apne Bachon ki Zid Khatam Karne ki Dua

हर माँ और बाप चाहते है की वह अपने बच्चे को अच्छी परवरिश दे. लेकिन कुछ माँ बाप अपने बच्चो के रैवायें से खुश नहीं रहते. उनके बच्चे बहुत ही जिद्दी हो जाते है. अक्सर कुछ माँ बाप को आपने शिकायत करते सुना होगा की उनके बच्चे बहुत ही जिद्दी हो गये है | लेकिन उनके बच्चों को ऐसा ज़िद्दी बनने में बहुत हद तक माँ बाप की ही ज़िम्मेदार होती है | क्यूंकि वो अपने बच्चो के लिए वक़्त रहते सही फैसले नहीं ले पाते है. लेकिन ऐसे माँ और बाप को परेशान नहीं होना चाहिए. क्यूंकि bachon ki zid khatam Karne ki dua की मदद से वह अपने बच्चों की ज़िद को खत्म कर सकते है.यह बच्चों की ज़िद खत्म करने की दुआ बहुत ही असरदार है|

Apne Bachon ki Zid Khatam Karne ki Amal

बच्चे की ज़िद खत्म करने की दुआ उन माँ बाप के लिए बहुत ही मददगार साबित होती है जो बच्चे बहुत ही ज़्यादा ज़िद्दी और नाफ़र्माबद्दर हो जाते है Bache ki zid khatam karne ki Amal की मदद से वह आसानी के साथ अपने बच्चों की ज़िद को काम ही नहीं बल्कि जाड से खत्म भी कर सकते है. हर माँ और बाप चाहते है उनका बच्चा ज़िद्दी न बनें Bachon ki zid kam karne ki dua कुरान शरीफ में इसी लिए बताई गयी है ताकि इससे बच्चों की ज़िद भी कम होजाये और साथ ही साथ उनका दिमाग भी दुरुस्त हो | बच्चों की ज़िद काम करने की दुआ की मदद से बच्चे अच्छे और समझदार भी बनते है|

Apne Bachon ki Zid Khatam Karne ki Wazifa

Apne Bachon ki Zid Khatam Karne ki Wazifa

हमने अक्सर देखा है की जब बच्चा पढ़ने में कमज़ोर होता है तो माँ बाप उनको बहुत डांटते है. कुछ माँ बाप तो अपने बच्चो पे हाथ भी उठा देते है | अगर बच्चा कोई भी चीज़ मांगता है तो माँ बाप उसको नहीं देते है. माँ बाप कहते पहले पढाई करो फिर हम हम तुम्हे देंगे ऐसा करने से बच्चे जिद्दी हो जाते है. जिन के बच्चे जिद्दी हो जाते है उन माँ बाप को Apne Bachon ki Zid Khatam Karne ki Wazifa को पढ़ना चाहिए जिसकी मदद से वह अपने बच्चे के ज़िद को खत्म कर सकते है बच्चों की ज़िद खत्म करने की दुआ को पढ़ने का तरीका यह है –
सबसे पहला ताज़ा वुज़ू बना ले.

  • इस दुआ को जुम्मे की रात को पढ़े इशा की नमाज़ के बाद,
  • सबसे पहले ३ बार दरूद शरीफ को पढ़े |
  • उसके बाद बच्चों की ज़िद खत्म करने की दुआ को पढ़े – “Ya Wadoodo, Ya Raufu, Ya Raheemu”
  • उसके बाद आखिर में फिर ३ बार दरूद शरीफ को पढ़े |
  • फिर अल्लाह पाक से दुआ मांगे |
  • इन शाह अल्लाह स्वत् ने चाहा तो आप बच्चे की ज़िद खत्म हो जाएगी |

कोई भी दुआ या वज़ीफ़ा पढ़ने से पहले एक बार हमारे मोलवी जी से मिल ले ताकि वो आपके बच्चे की नाफरमानी और बुरे रैवये का सही वजह जानके आपको बेहतर से बेहतर दुआ बता सकें |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *